Thursday, 6 June 2013

बस मानव


अमरत्व प्रदायक पायस को...... इतिहास कि पा सकता बस मानव
गिरिराज उठा कर के अंगुली पर...... विश्व हिला सकता बस मानव
सुन कार्य न एक असम्भव है..........पुरुषार्थ बढ़ा सकता बस मानव
फिर द्वेष विनाशन ही जग को प्रिय क्यों न सिखा सकता बस मानव
रचनाकार
डॉ आशुतोष वाजपेयी
ज्योतिषाचार्य
लखनऊ 

No comments:

Post a Comment